जिले के बारे में

दिनाक 2 अक्टूबर 1989 को जनपद गोरखपुर से कटकर जनपद महराजगंज का सृजन हुआ| सीमावर्ती स्थिति के परिप्रेक्ष्य में इस जनपद के उत्तर में नेपाल राष्ट्र, दक्षिण में गोरखपुर जनपद, पूरब में कुशीनगर जनपद तथा बिहार प्रान्त का जनपद पश्चिम चम्पारण तथा पश्चिम में सिद्धार्थनगर है| वर्ष 2011 की जनगणना के आधार पर इस जनपद की कुल जनसंख्या 26,85,292 है|

जनपद में प्रवाहित होने वाली नदियाँ नारायणी / बड़ी गण्डक,छोटी गण्डक,रोहिन,राप्ती,चन्दन,प्यास,घोंघी एवं डंडा नदी है| इसके अतिरिक्त खनुआ नाला, बघेला नाला, सोनिया नाला तथा महवा नाला प्रमुख है|

नगर निकाय

जनपद में कुल 7 नगर निकाय है, जिनके नाम क्रमशः महराजगंज, नौतनवा, निचलौल, सिसवां, घुघली, सौनोली व फरेन्दा है|

थाना

इस जनपद में कानून व्यवस्था चार सर्किल – सदर, फरेन्दा, नौतनवा, निचलौल एवं 17 थानों – कोतवाली महराजगंज, ठूठीबारी, सोनौली, चौक, निचलौल, बरगदवा, परसामलिक, नौतनवा, कोल्हुई, पुरन्दरपुर, फरेन्दा, बृजमनगंज, पनियरा, श्यामदेउरवा, घुघली, कोठीभार एवं सोहगीबरवा के माध्यम से सुनिश्चित की जाती है| उक्त के अतिरिक्त 01 महिला थाना भी है|

तहसील

यह जनपद चार तहसीलों में विभक्त है, जिनके नाम क्रमशः महराजगंज, फरेन्दा, नौतनवा तथा निचलौल है| जनपद में कुल 929 ग्राम पंचायते व 102 न्याय पंचायते है|

ब्लाक

जनपद में कुल 12 विकास खण्ड है, जिनके नाम क्रमशः बृजमनगंज, धानी, परतावल, पनियरा, लक्ष्मीपुर, घुघली, मिठौरा, नौतनवा, फरेन्दा,निचलौल, सदर तथा सिसवा है|